Wednesday, September 1, 2010

Saturday, August 21, 2010

संकेत



मित्रो जब हम एक उगली किसी की ओर उठाते है तो बाकी की चार उगलिया अपनी ओर उठ जाती है!
इस संकेत को जो पहचानता है वह इंसान,
बाकि "हम" सब नादान!

यह मत सोचो कि हमारे लिये क्या नही हुआ, आपितु यह सोचो कि हमने किसी के लिये क्या किया,

जिन माता पिता ने अपना जीवन हमारे लिये कुर्बान कर दिया, उन कि सेवा हम् ने कभी न कि,
जिस भाई ने पिता समान प्यार दिया, ज़िन्दगी के हर कदम पर साथ दिया उसे जरुरत के समय मुश्किल राह पर हम अकेला छोड गए!

क्योकि हमे अपने बच्चो का FUTURE सवारना है
पर हम शायद भूल रहे है जिन्हे हम इन सन्स्कारो से .....................................
बना रहे है
वह भी हमारे लिये हमारे कर्मो का FUTURE PLAN बना रहे है

आज भी आख खुले तो सवेरा, नही तो.............?????????????????

Friday, August 20, 2010

खगोलीय घटना











खगोलीय घटना के तहत शुक्रवार 20 अगस्त 2010 को सौरमंडल परिवार का सबसे बड़ा ग्रह नैपच्यून पृथ्वी के सबसे करीब नजर आएगा
नैपच्यून ग्रह नीले रंग की छोटी गेंद की तरह अत्यंत सुंदर दिखाई देगा, लेकिन इसे टेलीस्कोप के माध्यम से ही देखा जा सकता है।



Friday, August 6, 2010

The Gayatri Mantra












THE GAYATRI MANTRA

---------------------------------------------------------------------------------------
"Om Bhurbhuvah Svah, Tatsaviturvarenyam, Bhargo Devasya Dhimahi, Dhiyo Yo Nah Pracodayat"
--------------------------------------------------------------------------------------
Om - Brahma or Almighty God.
Bhuh- Embodiment of vital spiritual energy.
Bhuvah- Destroyer of sufferings.
Svah- Embodiment of happiness.
Tat- That.
Savituh- Bright, luminous like Sun.
Varenyam- Best, Most exalted.
Bhargo- Distroyer of sins.
Devasya- Divine.
Dhimahi- May imbibe.
Dhiyo- Intellect.
Yo- Who.
Nah- Our.
Pracodayat- May inspire.
------------------------------------------------------------------------------------
In short it is a prayer to the Almighty supreme God, the creator of entire cosmos, the essence of our life existence, who removes all our pains and sufferings and grants happiness beseeching his divine grace to imbibe within us his Divinity and Brilliance which may purify us and guide righteous wisdom on the right path.
------------------------------------------------------------------------------------

The Gayatri Mantra









THE GAYATRI MANTRA



----------------------------------------------------------------
"Om Bhurbhuvah Svah, Tatsaviturvarenyam, Bhargo Devasya Dhimahi, Dhiyo Yo Nah Pracodayat"
-------------------------------------------------------------------------------------------------
Om - Brahma or Almighty God.
Bhuh- Embodiment of vital spiritual energy.
Bhuvah- Destroyer of sufferings.
Svah- Embodiment of happiness.
Tat- That.
Savituh- Bright, luminous like Sun.
Varenyam- Best, Most exalted.
Bhargo- Distroyer of sins.
Devasya- Divine.
Dhimahi- May imbibe.
Dhiyo- Intellect.
Yo- Who.
Nah- Our.
Pracodayat- May inspire.
-------------------------------------------------------------------------------------------------
In short it is a prayer to the Almighty supreme God, the creator of entire cosmos, the essence of our life existence, who removes all our pains and sufferings and grants happiness beseeching his divine grace to imbibe within us his Divinity and Brilliance which may purify us and guide righteous wisdom on the right path.
-------------------------------------------------------------------------------------------------

Thursday, April 29, 2010

तथ्य


" तथ्य
है वैज्ञानिकों का
कि हमारे पुर्वज थे बन्दर,
आज यह मानना होगा
क्योकि.....
नकलचियों की सभी खुबिया.....
है हमारे अन्दर! "

Tuesday, April 27, 2010

Art of Living

"मृत्यु"

मान लो मृत्य हो,
न मृत्यु से डरो कभी,
ज़िन्दगी......
जिये कुछ इस तरह,
कि याद रखे दुनिया सारी !

Wednesday, August 12, 2009

हिमाचल में सवाइन फ्लू

शिमला के इंदिरा गाँधी मेडिकल कॉलेज में सवाइन फ्लू के संधिग्द मरीजो के सैम्पल लिए जा रहे है ! जिन्हें पुष्टि के लिए राष्ट्रीय संचारी रोग संसथान (एन आई सी ड़ी ) दिल्ली भेजा जा रहा है !
सवाइन फ्लू के बड़ते सक्रमण के समाचारों से बागवानों में खोफ फैल गया है ! जहा सालाना मेहनत का फल "सेब", जिसे सेब की मंडियो में पहुचाना अनिवार्य है ! साथ ही साथ बड़ी मंडियो में जाने से सवाइन फ्लू के सक्रमण का खतरा भी है! इस असमंजस में बागवानों को सेब की फसल के साथ -साथ अपनी जान जोखिम में जाने का भय भी सता रहा है ! सवाइन फ्लू एक व्यकित से दुसरे में फ़ैल रहा है ! सवाइन फ्लू का सक्रमण नाक , मुह से होता है ! इसलिए यदि भीड़-भाड़ वाले स्थानों में मास्क पहन कर जाए, और हाथ मिलाने के बाद हाथो को धो लिया जाए, साफ़-सुथरे रहे और साथियों को भी सावधानिया बरतने के लिए प्रेरित करे तभी महामारी का रूप ले रही इस बीमारी से न केवल ख़ुद को आपितु अपने समाज को भी सुरक्षित किया जा सकता है !
बागवान भाई भी यदि सावधानिया बरते तो बड़ी मंडियो मै सेब बेचने मै कोई खतरा नही है !

"Protect Yourself & Save Society"

Saturday, August 8, 2009

शिल्पा शेट्टी एक बार फिर चुम्बन को लेकर फिर चर्चा में है ! मुंबई के सुवर्णा मन्दिर के पुजारी द्वारा शिल्पा का चुम्बन लेना और उस पर धर्म गुरुओ का विरोध हमे सोचने पर मजबूर करता है ! पुजारी के पुत्र द्वारा इस चुम्बन को एक पिता और बेटी के स्नेह संबंधो के संज्ञा देना एक उच्च परम्परा का पारिचायक है जबकि धरम गुरुओ का विरोध अकारण लगता है ! इस घटना के बाद मुझे याद आया की मैंने कही पढ़ा था की "पवित्र चुम्बन से एक दुसरे का अभिवादन करे" यह उक्ति एक पवित्रता का प्रदर्शन करती है ! पुजारी द्वारा शिल्पा का चुम्बन लेना शायद इसी अभिवादन का एक रूप है और विरोध करना शायद एक अलग दृष्टिकोण है !

हितेंदर शर्मा की कलम से